Ram bhajan from Sri Ram Charit Manas by Lata Mangeshkar

Ram bhajan lyrics

जय राम श्री राम

जय राम रमारमनं शमनं, भव ताप भयाकुल पाहि जनं।

महि मंडल मंडन चारुतरं। धृत सायक चाप निसंग बरं।

मुनि मानस पंकज भृंग भजे। रघुबीर महा रनधीर अजे।

तव नाम जपामि नमामि हरी। भव रोग महागद मान अरी।

गुन सील कृपा परमायतनं। प्रनमामि निरंतर श्रीरमनं।

रघुनंद निकंदय द्वंद्वघनं। महिपाल बिलोकय दीन जनं।

Excerpts from Shiva’s praise of Rama in Uttarakand of Sri Ram Charit Manas by Goswami Tulsidas



Anisha
Views: 25773



blog comments powered by Disqus



Birds of Lucknow by Shivani Kalra

Find us on Facebook